KavitaShayari

रक्षाबंधन पर कविता 2018 – Rakshabandhan Par Kavita in Hindi

रक्षाबंधन भाई बहन का त्यौहार है इस दिन बहन अपने भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधती है और भाई अपनी बहन के पेअर छूकर आशीर्वाद लेते है और भाई बहन की सुरक्षा का वादा करते है. आज में आपके साथ रक्षाबंधन पर कविता 2018, Rakshabandhan Par Kavita in Hindi साँझा कर रहा हु जिसे आप अपने प्यारे भाई, बहनो व् अपने दोस्तों के साथ व्हाट्सप्प, फेसबुक पर आसानी से शेयर कर सकते है | रक्षाबंधन पर कविता 2018 राखी आयी खुशियां लायी बहन आज फूलें न समाई रखी, रोली और मिठाई इन सब से थाली खूब सजाई ! बांधे भाई के कलाई पे धागा भाई से लेती हैं वादा रखी की लाज भैया निभाना बहन को कभी भूल न जाना ! भाई देता बहन को वचन दुःख उसके सब कर लेंगा हरन भाई बहन का प्यार हैं त्यौहार रखी का न्यारा हैं ! राखी बांधत जसोदा मैया । विविध सिंगार किये पटभूषण, पुनि पुनि लेत बलैया ॥ हाथन लीये थार मुदित मन, कुमकुम अक्षत मांझ

Read More
Kavita

किसान पर कविता – Kisan Par Kavita in Hindi for Whatsapp and Facebook

Aaj hum aapko apni post " Kisan par Kavita in Hindi , किसान पर कविता , Kisan Par Kavita in Hindi for Whatsapp and Facebook , किसान पर कविता हिंदी मैं , जय जवान जय किसान " ke madhyam se aap logo tak duniya ke ann data ke baare main kavita aap tak pahuchane jaa rhe hai. Kisan Par Kavita in Hindi , किसान पर कविता , Kisan Par Kavita in Hindi for Whatsapp and Facebook , किसान पर कविता हिंदी मैं , जय जवान जय किसान . किसान पर कविता हिंदी मैं - Kisan Par Kavita in Hindi देखता हूं नित दिन मैं एक इंसान को धूप में जलता हुआ शिशिर में पिसता हुआ वस्त्र है फटे हुए पांव हैं जले हुए पेट-पीठ एक है बिना हेल्थ जोन गए हुए। किसान पर कविता हिंदी मैं खड़ी फसल जल रही सूद-ब्याज बढ़ रही पुत्र प्यासा रो रहा दूध के इंतजार में फटी बिवाई कह रही दीनता की कहानी शब्दों के अभाव में जो रह गई बेजुबानी Kisa

Read More